June 14, 2021

Diamondonenews

All in one

Coronavirus in AMU: कोरोना से 22 दिन में 19 प्रोफेसर की मौत, प्रशासन ने तेज की महामारी से निपटने की तैयारी

अलीगढ़। अलीगढ़़ में कोरोना का कहर देखने को मिल रहा है. एएमयू के 100 साल के इतिहास में यह पहला मौका है जब विश्वविद्यालय से जुड़े ऐसे कई शिक्षकों, सेवानिवृत्त शिक्षकों और कर्मचारियों ने अपनी जान गंवाई है। पिछले 22 दिनों में AMU में अब तक 19 मौजूदा प्रोफेसरों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा, कई पूर्व शिक्षकों और कई गैर-शिक्षक कर्मचारियों ने भी इस संक्रमण के कारण दम तोड़ दिया। अभी भी कई शिक्षक और कर्मचारी इस बीमारी की चपेट में हैं।

संक्रमण को रोकने की कोशिश कर रहा प्रशासन
AMU परिसर में, सभी संक्रमित लोगों का ध्रुव अस्पताल में इलाज किया जा रहा था। मृतकों में 19 प्रोफेसर भी शामिल हैं। कोरोना से बड़ी संख्या में मौत के बाद एएमयू प्रशासन अलर्ट पर था। महामारी से निपटने की तैयारी तेज कर दी गई है। पूरे परिसर में समय-समय पर स्वच्छता का काम किया जा रहा है। कैंपस के अंदर लोगों को इकट्ठा नहीं होने दिया जा रहा है। साथ ही, विश्वविद्यालय परिसर में बाहरी लोगों का प्रवेश पूरी तरह से वर्जित है। ये कदम तेजी से फैल रहे संक्रमण को देखते हुए उठाया जा रहा है।

बता दें कि बड़ी संख्या में गैर-शिक्षण कर्मचारी और प्रोफेसर अभी भी कोरोना से संक्रमित हैं। जिसका इलाज अस्पतालों और घरों में चल रहा है। यही कारण है कि विश्वविद्यालय प्रशासन और जिला प्रशासन संक्रमित मरीजों के बेहतर इलाज की व्यवस्था कर रहे हैं ताकि मृत्यु दर को रोका जा सके.

कैंपस में डर का माहौल
एएमयू में जिस तरह से कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है, उसे देखते हुए कैंपस के अंदर रहने वाले लोगों में डर का माहौल है। हर कोई इस महामारी से भयभीत लगता है। यही कारण है कि परिसर में कोई बाहर आ रहा है। अगर कोई बहुत महत्वपूर्ण काम कर रहा है तो केवल वह घर से बाहर निकल रहा है।

.

Source link